• in

    भगवान परशुराम जीवनी और क्यों काट डाला उन्होंने अपनी ही माँ का सर!

    parshuram

    भगवान परशुराम के जीवन से जुड़े कुछ तथ्य: भगवान् परशुराम (parshuram) त्रेता युग (रामायण काल) के एक ब्राह्मण थे। उन्हें विष्णु का छठा अवतार भी कहा जाता है। पौरोणिक कथाओ के अनुसार उनका जन्म भृगुश्रेष्ठ महर्षि जमदग्नि द्वारा सम्पन्न पुत्रेष्टि यज्ञ से प्रसन्न देवराज इन्द्र के वरदान स्वरूप पत्नी रेणुका के गर्भ से वैशाख शुक्ल […]

  • in , , , , , , ,

    मनोकामना पूर्ण करने वाली 10 शक्तिशाली देवियाँ

    HINDU DHARAM KI 10 PARMUKH DEVIYON KI KAHANI:हिंदू धर्म में ब्रह्मांड की सर्वोच्च शक्ति का प्रतिनिधित्व करने वाले पुरुष और स्त्री दोनों देवता हैं। वे अत्यधिक पूजनीय और शक्तिशाली हैं और ब्रह्मांड के निर्माण, संरक्षण और विनाश में केंद्रीय भूमिका निभाते हैं। यहां 10 हिंदू देवी-देवताओं की सूची दी गई है जो इस शक्ति के […]

  • in

    देव दीपावली कब मनाई जाती है और इसमें किन देवों की पूजा की जाती है

    देव दीपावली (Dev Diwali) कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा के दिन मनाई जाती है। देव दीपावली दिवाली के 15 दिन बाद मनाई जाती है। इस वर्ष देव दीपावली  12 नवंबर को मनाई जाएगी। इस पर्व में मां गंगा और भगवान शिव जी की अराधना की जाती है। पोराणिक ग्रंथों के अनुसार इस दिन […]

  • in ,

    छठ पूजा में इस्त्रियाँ क्यों लगाती है लम्बा सिंदूर और पढ़े छठ पूजा की कथाएं

    आज से छठ पूजा (chhath Pooja) का आरंभ हो गया है। जो पूरे 4 दिनों तक चलेगा। इस पर्व में 36 घंटों तक निर्जला व्रत रखा जाता है और पानी में खड़े रहकर सूर्य को अर्घ्य देना होता है। छठ व्रत पूजा के दौरान व्रत कथा को पढ़ना भी जरूरी माना जाता है। छठ पूजा […]

  • in

    धनतेरस पर क्या खरीदना शुभ रहता है और जाने खरीदारी करने का शुभ मुह्रत

    धनतेरस (Dhanteras) कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि मनाया जाता है और धनतेरस को धनत्रयोदशी के नाम से भी जाना जाता है। क्योकि कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को भगवान धनवन्तरि का जन्म हुआ था। इस वर्ष धनतेरस का त्यौहार 25 अक्टूबर 2019 यानि कल के दिन मनाया जाएगा। इस दिन धन की देवी […]

  • in ,

    70 साल बाद करवा चौथ पर बन रहा है महामंगल संयोग

    करवा चौथ का व्रत हर साल कार्तिक मास की चतुर्थी को आता है। इस व्रत में माता पार्वती और भगवान गणेश की पूजा-अर्चना की जाती है। करवा चौथ (Karva Chauth) व्रत दीपावली (Diwali) से नौ दिन पहले मनाया जाता है। करवा चौथ (Karva Chauth) के दिन महिलाएं दिन भर भूखी-प्‍यासी रहकर अपने पति की लंबी […]

  • in

    करवा चौथ व्रत कथा

    Karva Chauth Vrat Katha पौराणिक मान्‍यताओं के अनुसार एक साहूकार के सात लड़के और एक लड़की थी। सेठानी समेत उसकी बहुओं और बेटी ने करवा चौथ का व्रत रखा था। रात्रि को साहूकार के लड़के भोजन करने लगे तो उन्होंने अपनी बहन से भोजन के लिए कहा। इस पर बहन ने जवाब दिया- “भाई! अभी […]

  • in , , , ,

    ग्रहो क़ो शांत करने के उपाए:

    navgrah

    Grahshanti Ke Upayeआज इस पोस्ट में हम आपको ऐसे उपायों के बारे में बताने जा रहे है जिन्हे करने से न तो आपका समय बर्बाद होगा और न ही पैसा। आपको अपने जीवन में छोटे छोटे से बदलाव लाने है जिससे आपके ग्रह प्रसन्न होंगे और आप जीवन में उन्नति की तरफ अग्रसर होंगे प्रत्येक […]

  • in

    शरद पूर्णिमा (Sharad Purnima) से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

    यहाँ से आप जान सकते है की शरद पूर्णिमा (Sharad Purnima) के दिन देवी लक्ष्मी को कैसे प्रसन्न किया जाता है। शरद पूर्णिमा की व्रत कथा और शरद पूर्णिमा को किन किन नामों से जाना जाता है। शरद पूर्णिमा को ‘कोजागर पूर्णिमा’ (Kojagara Purnima) और ‘रास पूर्णिमा’ (Raas Purnima) के नाम से भी जाना जाता […]

  • in

    क्यों रखा जाता है पापांकुशा एकादशी का व्रत

    यहाँ से आप जान सकते है की क्यों क्यों रखा जाता है पापांकुशा एकादशी का व्रत और किस देवता की पूजा इस व्रत में की जाती है और इस व्रत को करने से क्या लाभ होता है।   पापांकुशा एकादशी (Papankusha Ekadashi) सभी पापों का नाश करने वाली एकादशी का नाम पापांकुशा एकादशी है। इस […]

  • in

    रावण के द्वारा मरने से पहले भगवान राम और लक्ष्मण को बताये गये रहस्य

    रावण के बारे में हम सब को इतना तो पता है की उसने देवी सीता का अपहरण करके अधर्म का काम किया था और इसी वजह से भगवान राम ने अधर्म का अंत करने के लिए उसका वध करके देवी सीता को उसके पास से मुक्त करवाया रावण को ब्रह्मराक्षस के नाम से भी जाना […]

  • in

    नवदुर्गा आरती (NAVDURGA AARTI) – नो देवियों की आरती

    नवरात्री में नो दिनों तक चलने वाली नव दुर्गा की पूजा में आरती का विशेष महत्व होता है बिना आरती के कोई भी पूजा सम्पूर्ण नही मानी जाती यहाँ से नो देवियों की आरती पढ़े और अपनी पूजा को पुरे विधान के अनुसार सम्पूर्ण करें माँ शैलपुत्री की आरती शैलपुत्री माँ बैल पर सवार। करें […]

Load More
Congratulations. You've reached the end of the internet.