in

बाधाओं को दूर करने और सफलता हासिल करने के लिए मंत्र – बाधा निवारण मंत्र

badha ko dur karne aur saflta hasil karne ke liye badha nivarak mantr

mantra
हम सभी जीवन में सफल होना चाहते हैं, इसके पश्चात, हमारे सर्वोत्तम प्रयासों और मेहनत के बावजूद हम वैसी सफलता हासिल नहीं कर पाते जिस तरह से हम कल्पना करते हैं। हिंदू शास्त्रों के अनुसार, ऐसा होने के कई कारण हैं, यह एक या कई अलग-अलग बाधा हो सकती है, जो हमें अपने उद्देश्य को प्राप्त करने से रोकती है। इसलिए प्रार्थना, पूजा, ध्यान और कुछ मंत्रों का जप करते हुए इसका समाधान निकला जा सकता है।

मंत्र शब्द को दो भागों में विभाजित किया जा सकता है: “मन”, जिसका अर्थ है दिमाग, और “ट्र,” जिसका मतलब परिवहन या वाहन है। दूसरे शब्दों में, एक मंत्र दिमाग का एक साधन है – एक शक्तिशाली ध्वनि या कंपन जिसे आप ध्यान की गहरी अवस्था में प्रवेश करने के लिए उपयोग कर सकते हैं। यह एक दिव्य ध्वनि है जिसे गहरी समाधि (आध्यात्मिक अवशोषण) की स्थिति में प्राप्त किया जाता है या अनुभव किया जाता है। यह आध्यात्मिक ऊर्जा का एक संघनित रूप है, दिव्य अस्तित्व का ध्वनि शरीर है। इसे सघन प्रार्थना के रूप में भी सोचा जा सकता है।

स्थिति के अनुसार, विभिन्न मंत्रों को पढ़ना आवश्यक है। नीचे वर्णित बाधा निवारण मंत्र  badha nivarak mantr मुख्य रूप से जीवन में बाधाओं और कठिनाइयों को दूर करने के लिए हैं। बाधा निवारण मंत्रों का नियमित पठन शक्ति, सकारात्मक ऊर्जा के साथ मन को पवित्र करता है और सफलता और अच्छे नतीजे सुनिश्चित करता है।

बाधा निवारण मंत्र  badha nivarak mantr

badha nivarak mantr

1. बाधानिवारण मंत्र

कालि कालि महाकालि, मनोऽस्तुत हन हन ।
दह दह शूलं त्रिशूलेन हुँ फट् स्वाहा ।।

Kaalii Kaalii Mahakaali, Mano-astuta Han Han।
Dah Dah Sholam Trishulen Hoom Phat Swaha ।।

 

2. बधानिवारक मंत्र

सर्वबाधा-प्रशमनं त्रैलोकस्याखिलेश्वरि ।
एवमेव त्वया कार्यस्मद्ववैरिविनाशनम् ।।
ॐ नमश्चंडिकायै ।।

Sarvabadha-Prashmnam Trailokyakhileshwari ।
Avmev Tvayaa Karyasmdvavairivinashanam।।
Om Namaschandikayai ।।

3. सर्व बाधा मंत्र

सर्वाबाधा प्रशमनं त्रैलोक्यस्याखिलेश्वरि ।
एवमेव त्वया कार्यमस्मद्दैरिविनाशनम् ।।

सर्वाबाधा विर्निर्मुक्तो धनधान्यसुतान्वित ।
मनुष्यो मत्प्रसादेन भविष्यति न संशय ।।

Sarva Badha Prashmanan Trailokya Syakhileshwari ।
Evamevmev Tvayaa Kaaryam Sma Dveri Vinaashnam ।।

Sarva Badha Vinirumk To Dhan Dhaanya Sutaan Vitah ।
Manushyo Mat Prasaaden Bhavishyati Na Sansha Yah ।।

 

यह भी पढ़े : hindu dharam ke 10 pavitr tayohaar

 

4. बधानिवारक मंत्र

ॐ हंसः हंसः ।

Om Hansah Hansah।

2 Comments

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदू धर्म के त्योहारों

हिन्दू धर्म के 10 सबसे पवित्र और पोराणिक त्यौहार

योगिनी एकादशी

स्वर्ग प्राप्ति वाला योगिनी एकादशी (YOGINI EKADASHI) व्रत कथा एवम पूजा विधि