in

आध्यात्मिकता में है अवसाद (Depression) का उपचार

Depression Yani Avsaad Ka Upchar:

दुनिया भर में 121 मिलियन से अधिक लोग अवसाद यानि की Depression से प्रभावित है। अवसाद को विभिन्न आयु और वर्ग के लोगों में सबसे खतरनाक मनोवैज्ञानिक बीमारियों में से एक माना जाता है। अवसाद के चलते लोग इतना परेशान हो जाते है की वह आतमहतिया तक करने के लिए मजबूर हो जाते है। जो दुनिया भर में हर साल 850,000 से अधिक मौत का एकमात्र कारण है।

adhyatam-for-Depression

अभी तक अवसाद होने का कोई मुख्य कारण पता नहीं लगाया जा सका है, हालांकि फिर भी तनाव को इसका एक कारण माना जाता है। इसके अलावा, ऐसे कई कारक हैं जो संभवतः अवसाद में भूमिका निभाते हैं। इनमें मस्तिष्क में बनने वाले रसायन, जैविकी, आनुवांशिकी और जीवन की कुछ दुख़द घटनाएं जैसे – किसी प्रियजन की मोत, एक कठिन संबंध, आघात या कोई तनावपूर्ण स्थिति शामिल हैं।

अवसाद व्यक्ति को किसी भी उम्र में हो सकता है, लेकिन यह मुख्य रूप से किशोरों या 20 – 30 की उम्र में शुरू होता है।

स्वाभाविक रूप से अवसाद को कैसे ठीक किया जा सकता है?

आध्यात्मिकता के मार्ग में अवसाद का सही उपचार है। आध्यात्मिकता एक मजबूत शक्ति है और जो इसको समझता है वह जनता है की इसमें सभी बीमारियों को ठीक करने की शमता है। ऐसा व्यक्ति इसके माध्यम से दूसरों को भी ठीक करने में मदद कर सकता है।

उपचार में आध्यात्मिकता का उपयोग करने के लिए, आपको खुद से एक प्रश्न पूछने और उसका उत्तर खोजने की आवश्यकता है। और वो सवाल यह है की, “आखिर अवसाद का मूल कारण क्या है?” अवसाद किसी घटना, स्थिति या किसी व्यक्ति का कारण नहीं है; यह आध्यात्मिक संतुलन में एक विकार से होता है। इसका तात्पर्य यह है कि जब सकारात्मक ऊर्जा की तुलना में हमारे दिमाग और शरीर में नकारात्मक ऊर्जा अधिक हो जाती है, तो व्यक्ति को अवसाद होता है। सकारात्मक ऊर्जा की कमी मन, शरीर और आत्मा के बीच संतुलन को बाधित करती है।

adhyatam

जब आप आध्यात्मिकता की तरफ बढ़ते है तो आपको आपके मन में चलने वाले सभी नकारात्मक सवालों के जवाब मिलने लगते है। आप प्रकृति के के नजदीक होते जाते है। जो आपके मन को शांत करता है और शरीर की नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा के बीच संतुलन बहाल करने में मदद करता है और इस प्रकार अवसाद का इलाज करता है।

अवसाद के लिए आध्यात्मिक उपचार का अभ्यास कैसे करें?

यह समझें कि आध्यात्मिकता का उद्देश्य आपके दिमाग और शरीर में सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा को संतुलित करना है। जो की अच्छी ऊर्जा के निर्माण और नियंत्रण के माध्यम से किया जा सकता है।

– आध्यात्मिकता में अवसाद से निपटने के लिए सबसे बेहतरीन तकनीक ध्यान यानि की Meditation है। ध्यान मन को शांत करता है और शरीर को आराम देता है। अवसाद मन की बीमारी है और आध्यात्मिकता का मार्ग आपको अपने मन पर नियंत्रण प्राप्त करने में मदद करता है।

– ध्यान आपके विचारो में सुधार करने में मदद करता है। यह आपको अपने जीवन में सकारात्मक विचारों और चीजों पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है।

– ध्यान के तीन मूल रूपों में से पहला रूप खुद को खुद से ठीक करना है। यह आपको अपने दिमाग पर ध्यान केंद्रित करना सिखाता है।

– आध्यात्मिकता के माध्यम से अवसाद का प्राकृतिक उपचार का तरीका लंबे समय से चलता आ रहा है।

– यह न केवल अवसाद के इलाज में मदद करता है बल्कि आपके भीतर अच्छी ऊर्जा को सुसंगत बनाने में भी मदद करता है। जिससे इंसान की सोच और संकल्प शक्ति इतनी मजबूत हो जाती है की उसको अपने मार्ग में सफलता पाने से कोई नहीं रोक सकता।

यह भी पढ़े:

ब्रह्म मुहूर्त का विशेष महत्व

आयुर्वेद की शक्ति

अध्यात्म क्या है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Diwali-Festival

दिवाली त्यौहार और पूजा विधि

hanuman

हनुमान जी के मंत्रो का संग्रह और उन के लाभ