in

धनतेरस पर क्या करना शुभ माना जाता है और क्या अशुभ

साल 2018 में धनतेरस का शुभ मुहूर्त – Dhanteras Festival 2018 Date

      धनतेरस                                        5 नवम्बर 2018
        दिन                                                सोमवार
धनतेरस पर पूजा करने का शुभ समय:    शाम 6.05 बजे से 8.01 बजे तक

धनतेरस पर खरीदारी का समय

सुबह 07:07 से 09:15 बजे तक

दोपहर 01:00 से 02:30 बजे तक

रात 05:35 से 07:30 बजे तक

dhanteras pooja vidhi

धनतेरस के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद लक्ष्मी माता के मंदिर में जाकर मां लक्ष्मी को कमल के फूल और सफेद रंग की मिठाई अर्पित करने से सबसे ज्यादा लाभ मिलता है और माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने का यही सबसे अचूक उपाय भी है।

क्यों मनाया जाता है धनतेरस

धनतेरस के दिन भगवान धनवंतरी का जन्‍म हुआ था इसलिए इस दिन खासतौर पर उनकी पूजा की जाती है और  इस दिन मां लक्ष्‍मी और भगवान गणेश जी की भी पूजा की जाती है ताकि वे हमारे घर में सुख और सम्पति में बनाये रखे।

ऐसा भी माना जाता है की धनतेरस के दिन शुभ मुहूर्त में की गई खरीदारी से जीवन में ढेर सारी सफलता और समृद्ध‍ि आती है। इस दिन अधिकतर लोग बर्तन और गहनों की खरीदारी करते हैं। यदि इस खास पर्व पर शुभ मुहूर्त में पूजा की जाए तो घर में धन की वर्षा हो सकती है और माता महालक्ष्मी जी की कृपा बनी रहती है।

धनतेरस के दिन किन – किन चीजों को खरीदने से देवी लक्ष्मी रुष्ट होती है

शीशे और उससे जुड़े सामान

धनतेरस के दिन भूलकर भी शीशे का सामान नही खरीदना चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि शीशे का संबंध सीधा राहु से होता है जो कि एक नीच ग्रह माना जाता हैं। इसी वजह से धनतेरस के दिन कांच का सामान खरीदना अशुभ माना जाता है।

Dhanteras pooja
Catch Hindi

लोहे व एल्युमिनियम के बर्तन

धनतेरस के दिन लोहे व एल्युमिनियम से बने सामान की खरीदारी भी नही करनी चाहिए जैसे नुकीला चाकू और लोहे के बर्तन आदि। क्योकि इनका संबंध भी राहु से होता है इसलिए इनको भी अशुभ माना जाता है। यही कारण कि एल्युमिनियम का प्रयोग पूजा-पाठ में भी नहीं किया जाता है।

काले रंग की वस्तुएं

धनतेरस के दिन काले रंग की वस्तुओं को घर में नही लाना चाहिए। धनतेरस बहुत शुभ दिन माना जाता है जबकि काला रंग हमेशा दुर्भाग्य का प्रतीक माना गया है इसलिए धनतेरस पर काले रंग की चीजों को खरीदने से बचना चाहिए।

नकली सोना या आर्टिफीसियल जेवेलरी

धनतेरस के दिन केवल शुद्ध सोने से बनी चीजे ही खरीदनी चाहिए और ज्यादातर लोग इस दिन सोने से बनी चीजों की ही खरीदारी करते हैं लेकिन इस दिन इस बात का ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि इस दिन गलती से भी नकली ज्वैलरी घर में नहीं लाना चाहिए। यदि आपको कुछ ऐसी वस्तुए लानी भी है तो उन्हें एक दो दिन पहले या बाद में लेकर आयें।

यह भी पढ़े: दिवाली पर कैसे करें माँ लक्ष्मी को प्रसन्न

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

bhrighusamita

भृगु संहिता का विज्ञान – यह मानवता के भविष्य की भविष्यवाणी कैसे करता है

Narak Chaturdashi

क्यों मनाया जाता है नरक चतुर्दशी (रूप चोदस) का त्यौहार और जानिए इसका महत्व