in

भगवान हनुमान जी को क्यों चढ़ाया जाता लाल सिंदूर का चोला

HANUMAN JI KO KYU CHADHATE HAI LAL SINDUR KA CHOLA

ram lala hanuman

लाल सिंदूर श्री राम भक्त हनुमान जी को अति प्रिय है और यह भी कहा जाता है की जो भी व्यक्ति श्री राम भक्त हनुमान को लाल सिंदूर का चोला चढ़ाता है उसके सभी कष्ट भगवान हनुमान हर लेते हैं। वैसे तो हिंदू धर्म में सिंदूर का बहुत ही महत्व है हर धार्मिक कार्यों में सिंदूर और कुमकुम का प्रयोग किया जाता है। क्योंकि इनको सबसे शुद्ध और शुभ माना गया है। लाल सिंदूर बजरंगबली के अलावा अन्य कई देवी-देवताओं को भी चढ़ाया जाता है किंतु भगवान गणेश जी, भैरव जी और हनुमान जी को लाल सिंदूर का पूरा चोला चढ़ाया जाता है।

ram avtar

हिंदू धर्म में सभी सुहागन स्त्रियां अपनी मांग में सजाती हैं और अपने सुहाग की निशानी के रूप में लगाती है। भगवान बजरंगबली हनुमान ने भी अपने शारीर को ऊपर से नीचे तक लाल सिंदूर से भर दिया था और इसके पीछे एक पौराणिक कथा है जिसको तुलसीदास जी ने रामचरितमानस में बताया है। जब भगवान श्री राम अपने भाई लक्ष्मण और अपनी पत्नी माता सीता के साथ अयोध्या लौटे थे। तब एक दिन भगवान हनुमान माता सीता के कक्ष में पहुंचे और उन्होंने देखा कि माता सीता अपनी मांग में कोई लाल रंग की वस्तु भर रही है। तब उन्होंने माता सीता से उस लाल रंग की वस्तु को अपनी मांग में सजाने का कारण पूछा।

ram hanuman milan pictures

तब देवी सीता ने बोला इसको लगाने से सुहाग की आयु लंबी होती है और सुहाग का स्नेह प्राप्त होता है। जब भगवान हनुमान जी को इस बात का पता चला तो उन्होंने उस लाल रंग की वस्तु यानी सिंदूर को अपने पूरे शरीर पर ऊपर से लेकर नीचे तक लगा डाला और उसी वेश में भगवान श्री राम की सभा में चले गए। जब भगवान श्रीराम ने हनुमान जी को इस रुप में देखा तो वह हैरान रह गए और उन्होंने हनुमान जी से पूरे शरीर पर सिंदूर लगाने का कारण पूछा। तब हनुमान जी ने सारी बात साफ-साफ बता दी। जिसको सुनकर भगवान श्री राम ने हनुमान जी को गले से लगा लिया और उनको अति प्रेम और स्नेह के साथ अपने पास बिठाया। उसी समय से हनुमान जी को सिंदूर अति प्रिय है।

ram bhakat hanuman

जो भी व्यक्ति हनुमान जी को लाल सिंदूर भेट करता है या उनकी प्रतिमा पर सिंदूर चढ़ाता है।  भगवान हनुमान उससे प्रसन्न हो जाते हैं। इसके अलावा एक वैज्ञानिक कारण यह भी है की हनुमान जी की प्रतिमा को लाल रंग से बनाया जाता है और यदि किसी कारणवश प्रतिमा खंडित हो जाए। तो भक्तों के लाल रंग के सिंदूर के चोले के चढ़ाने से खंडित हुई प्रतिमा को ठीक किया जाता है और इससे प्रतिमा लंबे समय तक सुरक्षित रहती है और प्रतिमा की सुंदरता भी बनी रहती है। जिससे सभी भक्तों में आस्था बनी रहती है और हनुमान जी का ध्यान लगाने से किसी भी भक्तों को कोई परेशानी भी नहीं होती।

यह भी पढ़े: हनुमान जी के चमत्कारी नाम और उनके अर्थ 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

meditation

ध्यान(meditation) करने का सबसे आसान तरीका

shivling

शिवलिंग का रहस्य