in

हिन्दू धर्म के 10 सबसे पवित्र और पोराणिक त्यौहार

10 MOST MYTHICAL FESTIVALS OF HINDUISM

हिंदू धर्म के त्योहारों

हिंदू धर्म में बहुत से त्यौहार मनाए जाते हैं | जिनमें से कुछ में तो देवी देवताओं के जन्म से लेकर उनके जीवन काल मैं होने वाली बहुत सी घटनाओं को बताया जाता है | हिंदू धर्म में बहुत से त्योहारों को मनाने की बहुत पुरानी परंपराएं भी है | हिंदू धर्म के त्योहारों में भोजन अमृत के समान माना गया है और त्योहारों में सभी को दान दक्षिणा अनुष्ठान यज्ञ पूजा आदि सब कुछ करना चाहिए | जो अच्छी तरह से सब पूजा आदि करता है भगवान उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं | हर त्योहारों के अपने-अपने कुछ नियम बनाए गए हैं |

अब हम कुछ हिंदू धर्म के सबसे पवित्र और पौराणिक त्योहारों के बारे में जानेंगे

दिवाली

दिवाली

दिवाली वैसे तो रोशनी का त्योहार है लेकिन हमारे भारतीय धर्म में दिवाली को बहुत महत्व दिया गया है | दिवाली पर एक पुरानी कथा भगवान राम से जुड़ी हुई है | कि इस दिन भगवान राम 14 वर्ष का वनवास काटकर अपने राज्य अयोध्या में वापस आए थे और उन्होंने रावण का वध भी किया था | तो इस पर बुराई पर अच्छाई की जीत के लिए यह त्योहार मनाया जाता है | इस त्यौहार पर सभी लोग अपने घरों में दीपक जलाते हैं और और अच्छे-अच्छे पकवान बनाकर भगवान को भी भोग लगाते हैं और अपने आसपास और ब्राह्मणों को भी दान करते हैं | इस त्यौहार पर आतिशबाजी चलाने की भी परंपरा है | परंतु कुछ लोग इस दिन जुआ भी खेलते हैं लेकिन दिवाली हिंदू धर्म का बहुत पवित्र त्यौहार है इस दिन हमें कुछ भी गलत काम नहीं करना चाहिए |

होली

होली

होली भी हिंदू धर्म का एक मुख्य त्यौहार है | होली में रंगों का बहुत महत्व है | इस दिन सभी लोग एक दूसरे को रंग लगाकर होली की बधाई देते हैं | होली की शुरुआत पौराणिक कथाओं के अनुसार होलीका दहन से हुई थी जब भगवान विष्णु ने अपने भक्त प्रहलाद की रक्षा की थी तभी से होली मनाई जाती है | इसमें मुख्यतः भांग के पकौड़े बनाए जाते हैं और सभी लोग एक दूसरे के साथ होली का त्यौहार मनाते हैं |

ओणम

ओणम

ओणम केरल का मुख्य त्यौहार है | यह त्यौहार काफी उत्साह से मनाया जाता है इस में मुख्यता अन्य चीजों के साथ-साथ नाव की दौड़ कराई जाती है | इस त्यौहार में यह एक पारंपरिक खेल है इस त्यौहार में भी बुराई की अच्छाई पर जीत के कारण यह त्योहार मनाया जाता है | इसमें पौराणिक कथाओं के अनुसार महाबली नाम का एक देवता युद्ध जीत कर घर वापस आया था और यह त्यौहार कुछ-कुछ हिंदू त्यौहार होली से भी मिलता-जुलता है और यह त्यौहार अब केरल के अलावा बाकी राज्यों में भी मनाया जाना शुरु हो गया है |

महाशिवरात्रि

महाशिवरात्रि

महाशिवरात्रि हिंदू धर्म का सबसे प्रमुख त्यौहार है | इस त्यौहार में भगवान शिव की और पार्वती माता की पूजा की जाती है | महाशिवरात्रि का मतलब है शिवजी की रात इस रात को सभी लोग भजन कीर्तन करते हैं और भगवान शिव को प्रसन्न करके मनवांछित फल की प्राप्ति करते हैं |

कृष्ण जन्माष्टमी

जन्माष्टमी

हिंदू लोक कथाओं के अनुसार भगवान कृष्ण के जन्म के दिवस पर कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है और इस दिन लोग भगवान कृष्ण को मकान का भोग लगाते हैं और सारी रात भजन कीर्तन करते हैं भगवान कृष्ण और उनसे जुड़ी बहुत सी कथाएं हैं | एक पौराणिक कथा के अनुसार भगवान श्री कृष्ण ने कंस का वध किया था और वहां के लोगों को उसके अत्याचारों से मुक्ति दिलाई थी | भगवान कृष्ण ने कुरुक्षेत्र के युद्ध में अर्जुन को गीता का उपदेश भी दिया था और बुराई पर अच्छाई की जीत होने की वजह से भगवान कृष्ण की पूजा की जाती है |

मकर सक्रांति

मकर सक्रांति
NewsGram

हिंदू धर्म के अनुसार हर साल की 14 जनवरी को मकर सक्रांति मनाई जाती है | इस सक्रांति पर सूर्य देवता की पूजा की जाती है | मकर सक्रांति को अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग रूप से मनाया जाता है तमिल में इसे पोंगल कहते हैं असम में बिहू के रुप में मनाया जाता है और उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में लोहड़ी के रूप में भी मनाया जाता है | मकर सक्रांति यह एक ऐसा उत्सव है जो सबसे अलग है इसमें पतंग उड़ाने का भी बहुत महत्व है इस दिन बहुत से लोग नदी किनारे अनुष्ठान करते हैं क्योंकि यह एक बहुत ही महत्व दिन होता है |

गणेश चतुर्थी

गणेश चतुर्थी

हिंदू धर्म में गणेश भगवान को प्रथम पूजनीय भगवान माना गया है और इस त्यौहार पर सभी लोग गणेश भगवान की पूजा करते हैं क्योंकि गणेश भगवान भगवान शिव के पुत्र हैं और भगवान गणेश अपने भक्तों की सब मनोकामनाओं को पूरी करते हैं और जो भी बाधाएं होती हैं उनको दूर करते हैं | भगवान गणेश को एकदंत भी कहां जाता है क्योंकि यह एक पौराणिक कथा के अनुसार जब भगवान शिव ने भगवान गणेश का शीश काट दिया था और माता पार्वती के आग्रह करने पर भगवान गणेश को पुनः जीवित किया गया था तो उनके सिर पर एक हाथी के बच्चे का सिर लगाया गया था जिसका एक दांत टूटा हुआ था | गणेश चतुर्थी पर सभी लोग भगवान गणेश की मिट्टी से बनी प्रतिमा को अपने घर में लेकर आते हैं और उसका बड़े विधि विधान से पूजा अर्चना करते हैं | फिर 8 दिन बाद भगवान गणेश की मूर्ति का विसर्जन किया जाता है और विसर्जन के समय सभी लोग पूरी धूमधाम से रंगों के साथ मिलजुल कर अगले साल के लिए दोबारा भगवान गणेश को आमंत्रित करके उनका विसर्जन करते हैं |

नवरात्रि

नवरात्रि

हिंदू धर्म में नवरात्रि का बहुत महत्व है नवरात्रि का मतलब है नो रात नवरात्रि पर सभी लोग 9 दिनों तक माता दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा करते हैं | नवरात्रि में सभी लोग सुबह जल्दी उठकर सभी देवी देवताओं की पूजा करते हैं और व्रत आदि रखते है और नवरात्रि में लोग दान दक्षिणा करते हैं मंदिरों में भजन कीर्तन आदि चलते हैं | यह दिन बहुत ही महत्वपूर्ण माने जाते हैं क्योंकि इन दिनों में माता सभी के घरों में विद्यमान रहती है और सब पर अपनी कृपा बरसाती है | नवरात्रि में भी बहुत से मंदिरों में और घरों में माता की मिट्टी से बनी मूर्ति को स्थापित करते हैं और 9 दिनों तक अपने घर में माता की पूजा करने के बाद दसवें दिन उसका विसर्जन करते हैं और विसर्जन करते समय पूरे हर्षोल्लास के साथ ढोल-नगाड़ों के साथ माता का विसर्जन करते हैं |

रामनवमी

रामनवमी

रामनवमी भी हिंदू धर्म का एक बहुत ही महत्वपूर्ण त्यौहार है इस दिन भगवान राम की पूजा की जाती है | और भगवान राम जन्मदिन के उपलक्ष में रामनवमी मनाई जाती है | इस दिन सभी मंदिरों में भजन कीर्तन आदि होता है और बाद में भंडारा होता है जिसमें सभी को भोजन कराया जाता है |

 उगादी

उगादी

हिंदू धर्म के अनुसार उगादी हिंदुओं के लिए नया साल का दिन है | उगादी त्योहार मुख्य रूप से दक्षिण भारत के राज्य कर्नाटक आंध्र प्रदेश तमिलनाडु और तेलंगाना में मनाया जाता है | इस त्यौहार में आम की पत्तियों फूल और अन्य सजावट के सामान से मंदिरों को सजाया जाता है | इस त्यौहार पर सभी लोग स्वादिष्ट पकवान अपने घरों में तैयार करते हैं और फिर भगवान को भोग लगाते हैं | इसके अतिरिक्त इस दिन नीम और गुड़ से बने पकवान बानने का भी प्रचलन है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

budhnilkanth mandir

1400 साल पुराने एक पत्थर की मूर्ति जिसपर भगवान् विष्णु सो रहे है

mantra

बाधाओं को दूर करने और सफलता हासिल करने के लिए मंत्र – बाधा निवारण मंत्र