in

धन प्राप्ति के लिए कुबेर मंत्र

Kuber Mantr For Wealth and Blessings:

भगवान कुबेर धन के देवता है और उन्हें “देवताओं के खजाने के रखवाले” के रूप में भी जाना जाता है। देवी लक्ष्मी धन का सर्जन करती है, और कुबेर का कार्य धन को बांटना हैं। इनका जिक्र बौद्ध धर्म में भी ‘Jambhala’ नाम से किया गया है। साथ ही जैन धर्म भी इनकी चर्चा की गई है।

kuber

भगवान् दुबारा इनका निर्माण ब्रह्मांड में सभी संपत्तियों की देखभाल करने के लिए किया गया है। लेकिन शुरुआत में ऐसा नहीं था, मोटे दिखने के कारण सब कुबेर का मजाक उड़ाते थे। फिर उन्होंने भगवान शिव को खुश करने के लिए गंभीर तपस्या की। भगवान शिव उनके सामने प्रकट हुए और पूछा कि वह कौन सा वरदान चाहते है। तब कुबेर ने लोकप्रिय होने और सभी का सम्मान प्राप्त करने का वर माँगा, तो भगवान शिव ने उन्हें सभी संपत्ति का संरक्षक बना दिया। जिसके बाद सभी ने कुबेर की पूजा करनी शुरू कर दी और भगवान कुबेर का आशीर्वाद पाने के लिए कुबेर मंत्रो का जाप करना आरम्भ कर दिया।

कहा जाता है की यदि रोजाना 108 बार लगातार 3 महीने के लिए भगवान कुबेर के मंत्रो का जाप किया जाए तो वह खुश होकर अपना आशीर्वाद देते है। इस प्रकार कुबेर मंत्र के नियमित जप से निर्धन को धन की प्राप्ति होती है, और जीवन से सभी बुराइया दूर होकर जीवन स्वस्थ और समृद्ध बनता है।

धन और भगवान् कुबेर का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए मंत्र

 

कुबेर गायत्री मंत्र – Kuber Gayatri Mantr

ॐ यक्षा राजाया विद्महे, वैशरावनाया धीमहि, तन्नो कुबेराह प्रचोदयात्॥

Om Yaksha Rajaya Vidhmaya
Alikadeesaya Deemahe
Tanna Kubera Prechodayath॥

 

कुबेर धन प्राप्ति मंत्र – Kuber Dhan Prapti Mantr

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीं क्लीं वित्तेश्वराय नमः॥

Om Shreem Hreem Kleem Shreem Kleem Vitteshvaraya Namah॥

 

कुबेर अष्ट-लक्ष्मी मंत्र – Kuber Ashta-Lakshmi Mantr

ॐ ह्रीं श्रीं क्रीं श्रीं कुबेराय अष्ट-लक्ष्मी मम गृहे धनं पुरय पुरय नमः॥

Om Hreem Shreem Kreem Shreem Kuberaya Ashta-Lakshmi
Mama Grihe Dhanam Puraya Puraya Namah॥

 

कुबेर मंत्र – Kuber Mantr

ॐ यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धनधान्याधिपतये
धनधान्यसमृद्धिं मे देहि दापय स्वाहा॥

Om Yakshaya Kuberaya Vaishravanaya Dhanadhanyadhipataye
Dhanadhanyasamriddhim Me Dehi Dapaya Svaha॥

साथ ही, ऐसा भी कहा जाता है कि सच्चे मन से कुबेर मंत्रों का जप करना धन और समृद्धि तो देता ही है यह व्यक्ति के ऋण संकट को भी हटा देता है। इसी के विपरीत ऐसा माना जाता है कि इन मंत्रों का स्वार्थी और लालची उद्देश्य को पूर्ण करने के लिए जप करना मंत्र के उद्देश्य का खंडन कर देता है और कुबेर के क्रोध को आमंत्रित करता है।

यह भी पड़े:

नवग्रह शांति मंत्र

बाधाओं को दूर करने के लिए गणेश मंत्र

भय से मुक्ति पाने के लिए मंत्र

2 Comments

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

days

वारों के अनुसार किये जाने वाले कार्य

october festivals

जानिये अक्टूबर महीने में कोन – कोन से व्रत और त्योहार आने वाले है