in

5 चीजे जो एकादशी (EKADASHI) के दिन नही खानी चाहिये

FIVE FOODS NEVER EATS IN EKADASHI

VISHNU DEV

आज हम बात करेंगे उन पाँच चीजो की जिनका सेवन एकादशी (EKADASHI) के दिन बिल्कुल नहीं करना चाहिए | जो क्यक्ति इस दिन व्रत रखते हैं उनको इनका विशेष ध्यान रखना चाहिये | एकादशी का व्रत सभी व्रतो में श्रेष्ट माना जात है और श्री हरी से इच्छा प्राप्त करने वाले व्यक्ति इस दिन व्रत रखते है और विधिवत भगवान विष्णु का पूजन करते हैं | इस व्रत से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और यह व्रत बहुत नियम वाला व्रत है | इसके अपने कुछ विधि विधान हैं जिनका पालन करना व्यक्ति के लिए बहुत जरूरी होता है | लेकिन अगर आपने व्रत नही रखा है तो भी एकादशी  के कुछ ऐसे नियम होते है जिनका पालन करना आपके लिए जरूरी होता है | कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जिनका सेवन करना एकादशी के दिन उन व्यक्तियों के लिए भी वर्जित है जो व्रत नहीं करते |

अब जानते है उन 5 चीजो के बारे में जो एकादशी (EKADASHI) के दिन नही खानी चाहिये |

  1. चावल

एकादशी के दिन चावल का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए | क्योंकि एकादशी (EKADASHI) के दिन चावल को खाद्य पदार्थ अर्थात नहीं खाने योग्य पदार्थ माना जाता है | एक कथा के अनुसार माता के क्रोध से रक्षा के लिए मह्रिषी मेधा ने देह त्याग दी थी | उनका अंश भूमि में समा गया और कालांतर में वही अंश ज्यो  एवं चावल के रूप में भूमि से उत्पन्न हुआ  | जब मह्रिषी की देह भूमि में समाई उस दिन एकादशी थी तभी से ये परम्परा शुरू हो गई एकादशी के दिन चावल एवं ज्यो से  बने भोज्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए | क्योंकि एकादशी के दिन इनका सेवन करना  मह्रिषी की देह के सेवन के समान माना जाता है

RICE

वज्ञानिक दृष्टी में जो कारण बताया जाता है | वह यह है की चावल में जल तत्व की मात्रा अधिक होती है | जो मन को विचलित कर देती है और चंचल मन से कोई भी सुभ काम नहीं हो सकता | अशांत मन से पूजा पाठ भजन कीर्तन नही करना चाहिये उसका कोई लाभ नही मिलता |

स्वर्ग प्राप्ति वाला परमा एकादशी व्रत (Parama Ekadashi Vrat)

  1. सेम की फली

SEM PHALI

दूसरी चीज है सेम की फली | सेम की फली को एकादशी (EKADASHI) के दिन नही खानी चाहिये | क्योकि ऐसा माना  जाता है की सेम का सेवन करने से संतान को हानि होती है | इससे संतान को नुक्सान पहुंच सकता है | इसलिए एकादशी के दिन सेम की फली को बिलकुल न खाए |

  1. बैंगन

BAINGAN

तीसरी चीज है बैंगन | बैंगन का सेवन एकादशी और द्वादशी दोनों दिन अशुभ माना जाता है | तो  बैंगन का सेवन न ही एकादशी को करना चाहिये और  ना द्वादशी को करना चाहिये |

  1. लहसुन और प्याज

PYAJ OR LEHSUN

लहसुन और प्याज का सेवन हर शुभ कार्य में वर्जित होता है | किसी भी पूजा पाठ से जुड़े हुए काम में इनका उपयोग भी होता है एकादशी (EKADASHI) के दिन भी इनका सेवन नही करना चाहिये क्योंकि इसकी गंध से मन में भाव अशुधि होती है | मन के भावो को विचलित करते हैं जिसके कारण व्रत के नियमों का सही तरीके से पालन नही हो पाता और पूजा पाठ में मन अशांत रहता है |

  1. माँस और मदिरा

NASHELE PADARTH

माँस और मदिरा का सेवन एकादशी (EKADASHI) के दिन बिलकुल नही करना चाहिये | इसके साथ साथ किसी भी नशीली वस्तु का भी सेवन इस दिन नही करना चाहिये | इन सब चीजो से मन में अच्छे विचारो उत्पन्न होना बंद हो जाते है और घर में दरिद्रता का आना शुरु हो जाता है | तो जो कोई भी व्यक्ति इस दिन व्रत करता है या नही भी करता उससे इनमे से किसी भी प्रकार की वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

hindu info in hindi

शिव पुराण में शिवलिंग की आधी परिक्रमा का सुझाव क्यों दिया गया है?

kedarnath mandir

केदारनाथ मंदिर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य