in

श्री गणपति 108 नामावली

श्री गणपति 108 नामावली / shree ganesh 108 naam

भगवान गणेश बुद्धिमत्ता का प्रतीक है। उन्हें गणपति के नाम से भी जाना जाता है। गण का मतलब है समूह। यह ब्रह्मांड परमाणुओं और विभिन्न ऊर्जा का एक समूह है। यदि ब्रह्मांड के इन विविध समूहों को नियंत्रित करने वाला कोई सर्वोच्च कानून नहीं हो तो यह ब्रह्मांड अराजकता में होगा। परमाणुओं और ऊर्जा के इन सभी समूहों के भगवान गणेश हैं। वह सर्वोच्च चेतना है जो सभी में फैलती है। गणेश जी के 108 नाम का जाप करने से सभी कार्यो में सफलता मिलती है।

ganesh-namavali

Ganesh Namavali

1) ऊँ श्री गणेश्वराय नम:

 

2) ऊँ श्री गणाध्यक्षाय नम:

 

3) ऊँ श्री गणप्रियाय नम:

 

4) ऊँ श्री गणनाथाय नम:

 

5) ऊँ श्री गणेशाय नम:

 

6) ऊँ श्री गणपतये नम:

 

7) ऊँ श्री गणेधीशाय नम:

 

8) ऊँ श्री गणप्रभवे नम:

 

9) ऊँ श्री गणस्तुताय नम:

 

10) ऊँ श्री गुणाप्रियाय नम:

 

11) ऊँ श्री गौणशरीराय नम:

 

12) ऊँ श्री गुणेशवराय नम:

 

13) ऊँ श्री गुणप्रभवे नम:

 

14) ऊँ श्री गुणिगीताय नम:

 

15) ऊँ श्री गुणाधाशय नम:

 

16) ऊँ श्री गुणाधीशाय नम:

 

17) ऊँ श्री गुणदात्रे नम:

 

18) ऊँ श्री गुणचक्रधराय नम:

 

19) ऊँ श्री गुणप्राणाय नम:

 

20) ऊँ श्री गजाय नम:

 

21) ऊँ श्री गजरुपधराय नम:

 

22) ऊँ श्री गजप्राणाय नम:

 

23) ऊँ श्री गजदन्ताय नम:

 

24) ऊँ श्री गानकुशलाय नम:

 

25) ऊँ श्री गानशीलाय नम:

 

26) ऊँ श्री गानबुद्धये नम:

 

27) ऊँ श्री गुरुगुणाय नम:

 

28) ऊँ श्री गुरुप्राणाय नम:

 

29) ऊँ श्री गुरुश्रेष्ठाय नम:

 

30) ऊँ श्री संसारसुखदाय नम:

 

31) ऊँ श्री गौरयानुप्रियाय नम:

 

32) ऊँ श्री गौरगुणाय नम:

 

33) ऊँ श्री गौरीप्रिय-पुत्राय नम:

 

34) ऊँ श्री गदाधराय नम:

 

35) ऊँ श्री गौरभावनाय नम:

 

36) ऊँ श्री गोमतीनाथाय नम:

 

37) ऊँ श्री गोपतये नम:

 

38) ऊँ श्री गोगणाधीशाय नम:

 

39) ऊँ श्री गोपगोपाय नम:

 

40) ऊँ श्री गोलोकाय नम:

 

41) ऊँ श्री गोत्राय नम:

 

42) ऊँ श्री गोत्रवृद्धिकराय नम:

 

43) ऊँ श्री गोत्रपतयें नम:

 

44) ऊँ श्री ग्रन्थज्ञाय नम:

 

45) ऊँ श्री ग्रन्थप्रियाय नम:

 

46) ऊँ श्री ग्रहश्रेष्ठाय नम:

 

47) ऊँ श्री गीतकाराय नम:

 

48) ऊँ श्री गीतकीर्तये नम:

 

49) ऊँ श्री गीताश्रयाय नम:

 

50) ऊँ श्री गतदु:खाय नम:

 

51) ऊँ श्री गतसकलपाय नम:

 

52) ऊँ श्री गतक्रोधाय नम:

 

53) ऊँ श्री गयानाथाय नम:

 

54) ऊँ श्री गायकवराय नम:

 

55) ऊँ श्री सृष्टिलिंगाय नम:

 

56) ऊँ श्री सर्व देवात्मने नम:

 

57) ऊँ श्री गजकर्णकाय नम:

 

58) ऊँ श्री ज्ञानमुद्रावते नम:

 

59) ऊँ श्री लम्बोष्ठाय नम:

 

60) ऊँ श्री सर्वमंगल मांग्ल्याय नम:

 

61) ऊँ श्री निरंकुशाय नम:

 

62) ऊँ श्री ऋद्धि-सिद्धि प्रवर्तकाय नम:

 

63) ऊँ श्री एक पाद कृतासनाय नम:

 

64) ऊँ श्री ओजस्वे नम:

 

65) ऊँ श्री गृहनाय नम:

 

66) ऊँ श्री चराचरपतये नम:

 

67) ऊँ श्री दानवमोहनाय नम:

 

68) ऊँ श्री धन-धान्यपतये नम:

 

69) ऊँ श्री नन्दीप्रियाय नम:

 

70) ऊँ श्री पूर्णानन्दाय नम:

 

71) ऊँ श्री भद्राय नम:

 

72) ऊँ श्री मन्दगतये नम:

 

73) ऊँ श्री यज्ञपतये नम:

 

74) ऊँ श्री रसाय नम:

 

75) ऊँ श्री राज्यसुखप्रदाय नम:

 

76) ऊँ श्री लड्डूक प्रियाय नम:

 

77) ऊँ श्री लाभकृते नम:

 

78) ऊँ श्री विश्वतोमुखाय नम:

 

79) ऊँ श्री विश्वनेत्रै नम:

 

80) ऊँ श्री शम्भुशक्ति गणेवराय नम:

 

81) ऊँ श्री शास्त्रे नम:

 

82) ऊँ श्री सर्वज्ञाय नम:

 

83) ऊँ श्री सौभाग्यवर्धनाय नम:

 

84) ऊँ श्री पुत्र पौत्र दाय नम:

 

85) ऊँ श्री दौर्भाग्यनाशनाय नम:

 

86) ऊँ श्री सर्वशक्ति भृते नम:

 

87) ऊँ श्री विद्याधरेभ्यों नम:

 

88) ऊँ श्री ज्ञानविज्ञानाय नम:

 

89) ऊँ श्री चतुर्थी पुजनप्रियाय नम:

 

90) ऊँ श्री अष्टमूर्तये नम:

 

91) ऊँ श्री महागणाधिपतये नम:

 

92) ऊँ श्री गजकर्णक नम:

 

93) ऊँ श्री स्थूलकुक्षि: नम:

 

94) ऊँ श्री कम्बूकण्ठो नम:

 

95) ऊँ श्री लम्बनासिकाय नम:

 

96) ऊँ श्री पूर्णानन्दाय नम:

 

97) ऊँ श्री त्रिवर्गफलदाय नम:

 

98) ऊँ श्री देवदेवस्य नम:

 

99) ऊँ श्री महामना: नम:

 

100) ऊँ श्री सर्वनेत्रधिवासो नम:

 

101) ऊँ श्री वृहदभुज: नम:

 

102) ऊँ श्री लम्बोष्ठो नम:

 

103) ऊँ श्री महाकाय नम:

 

104) ऊँ श्री अष्टप्रकृतिकारणाय नम:

 

105) ऊँ श्री विधाप्रदाय नम:

 

106) ऊँ श्री विजयप्रदाय नम:

 

107) ऊँ श्री पुत्र पौत्रदाय नम:

 

108) ऊँ श्री रक्षोरक्षाकराय नम:

श्री गणपति 108 नामावली

1) ऊँ श्री गणेश्वराय नम:

 

2) ऊँ श्री गणाध्यक्षाय नम:

 

3) ऊँ श्री गणप्रियाय नम:

 

4) ऊँ श्री गणनाथाय नम:

 

5) ऊँ श्री गणेशाय नम:

 

6) ऊँ श्री गणपतये नम:

 

7) ऊँ श्री गणेधीशाय नम:

 

8) ऊँ श्री गणप्रभवे नम:

 

9) ऊँ श्री गणस्तुताय नम:

 

10) ऊँ श्री गुणाप्रियाय नम:

 

11) ऊँ श्री गौणशरीराय नम:

 

12) ऊँ श्री गुणेशवराय नम:

 

13) ऊँ श्री गुणप्रभवे नम:

 

14) ऊँ श्री गुणिगीताय नम:

 

15) ऊँ श्री गुणाधाशय नम:

 

16) ऊँ श्री गुणाधीशाय नम:

 

17) ऊँ श्री गुणदात्रे नम:

 

18) ऊँ श्री गुणचक्रधराय नम:

 

19) ऊँ श्री गुणप्राणाय नम:

 

20) ऊँ श्री गजाय नम:

 

21) ऊँ श्री गजरुपधराय नम:

 

22) ऊँ श्री गजप्राणाय नम:

 

23) ऊँ श्री गजदन्ताय नम:

 

24) ऊँ श्री गानकुशलाय नम:

 

25) ऊँ श्री गानशीलाय नम:

 

26) ऊँ श्री गानबुद्धये नम:

 

27) ऊँ श्री गुरुगुणाय नम:

 

28) ऊँ श्री गुरुप्राणाय नम:

 

29) ऊँ श्री गुरुश्रेष्ठाय नम:

 

30) ऊँ श्री संसारसुखदाय नम:

 

31) ऊँ श्री गौरयानुप्रियाय नम:

 

32) ऊँ श्री गौरगुणाय नम:

 

33) ऊँ श्री गौरीप्रिय-पुत्राय नम:

 

34) ऊँ श्री गदाधराय नम:

 

35) ऊँ श्री गौरभावनाय नम:

 

36) ऊँ श्री गोमतीनाथाय नम:

 

37) ऊँ श्री गोपतये नम:

 

38) ऊँ श्री गोगणाधीशाय नम:

 

39) ऊँ श्री गोपगोपाय नम:

 

40) ऊँ श्री गोलोकाय नम:

 

41) ऊँ श्री गोत्राय नम:

 

42) ऊँ श्री गोत्रवृद्धिकराय नम:

 

43) ऊँ श्री गोत्रपतयें नम:

 

44) ऊँ श्री ग्रन्थज्ञाय नम:

 

45) ऊँ श्री ग्रन्थप्रियाय नम:

 

46) ऊँ श्री ग्रहश्रेष्ठाय नम:

 

47) ऊँ श्री गीतकाराय नम:

 

48) ऊँ श्री गीतकीर्तये नम:

 

49) ऊँ श्री गीताश्रयाय नम:

 

50) ऊँ श्री गतदु:खाय नम:

 

51) ऊँ श्री गतसकलपाय नम:

 

52) ऊँ श्री गतक्रोधाय नम:

 

53) ऊँ श्री गयानाथाय नम:

 

54) ऊँ श्री गायकवराय नम:

 

55) ऊँ श्री सृष्टिलिंगाय नम:

 

56) ऊँ श्री सर्व देवात्मने नम:

 

57) ऊँ श्री गजकर्णकाय नम:

 

58) ऊँ श्री ज्ञानमुद्रावते नम:

 

59) ऊँ श्री लम्बोष्ठाय नम:

 

60) ऊँ श्री सर्वमंगल मांग्ल्याय नम:

 

61) ऊँ श्री निरंकुशाय नम:

 

62) ऊँ श्री ऋद्धि-सिद्धि प्रवर्तकाय नम:

 

63) ऊँ श्री एक पाद कृतासनाय नम:

 

64) ऊँ श्री ओजस्वे नम:

 

65) ऊँ श्री गृहनाय नम:

 

66) ऊँ श्री चराचरपतये नम:

 

67) ऊँ श्री दानवमोहनाय नम:

 

68) ऊँ श्री धन-धान्यपतये नम:

 

69) ऊँ श्री नन्दीप्रियाय नम:

 

70) ऊँ श्री पूर्णानन्दाय नम:

 

71) ऊँ श्री भद्राय नम:

 

72) ऊँ श्री मन्दगतये नम:

 

73) ऊँ श्री यज्ञपतये नम:

 

74) ऊँ श्री रसाय नम:

 

75) ऊँ श्री राज्यसुखप्रदाय नम:

 

76) ऊँ श्री लड्डूक प्रियाय नम:

 

77) ऊँ श्री लाभकृते नम:

 

78) ऊँ श्री विश्वतोमुखाय नम:

 

79) ऊँ श्री विश्वनेत्रै नम:

 

80) ऊँ श्री शम्भुशक्ति गणेवराय नम:

 

81) ऊँ श्री शास्त्रे नम:

 

82) ऊँ श्री सर्वज्ञाय नम:

 

83) ऊँ श्री सौभाग्यवर्धनाय नम:

 

84) ऊँ श्री पुत्र पौत्र दाय नम:

 

85) ऊँ श्री दौर्भाग्यनाशनाय नम:

 

86) ऊँ श्री सर्वशक्ति भृते नम:

 

87) ऊँ श्री विद्याधरेभ्यों नम:

 

88) ऊँ श्री ज्ञानविज्ञानाय नम:

 

89) ऊँ श्री चतुर्थी पुजनप्रियाय नम:

 

90) ऊँ श्री अष्टमूर्तये नम:

 

91) ऊँ श्री महागणाधिपतये नम:

 

92) ऊँ श्री गजकर्णक नम:

 

93) ऊँ श्री स्थूलकुक्षि: नम:

 

94) ऊँ श्री कम्बूकण्ठो नम:

 

95) ऊँ श्री लम्बनासिकाय नम:

 

96) ऊँ श्री पूर्णानन्दाय नम:

 

97) ऊँ श्री त्रिवर्गफलदाय नम:

 

98) ऊँ श्री देवदेवस्य नम:

 

99) ऊँ श्री महामना: नम:

 

100) ऊँ श्री सर्वनेत्रधिवासो नम:

 

101) ऊँ श्री वृहदभुज: नम:

 

102) ऊँ श्री लम्बोष्ठो नम:

 

103) ऊँ श्री महाकाय नम:

 

104) ऊँ श्री अष्टप्रकृतिकारणाय नम:

 

105) ऊँ श्री विधाप्रदाय नम:

 

106) ऊँ श्री विजयप्रदाय नम:

 

107) ऊँ श्री पुत्र पौत्रदाय नम:

 

108) ऊँ श्री रक्षोरक्षाकराय नम:

 

यह भी पढ़े:

ganesh chalisa aur aarti

ganesh chaturthi 2018

bhagti

शारीरिक व मानसिक बीमारियों से राहत पाने की विधि

ganesh-mantr

बाधाओं को दूर करने के लिए गणेश मंत्रो का संग्रह