in

श्री यंत्र और इसके लाभ

Shri Yantr
श्री यंत्र का उपयोग करने वाले लगभग हर व्यक्ति को इसका लाभ अवश्य प्राप्त होता है। इसे सबसे शुभ, महत्वपूर्ण और शक्तिशाली साधन माना जाता है। श्री यंत्र एक संस्कृत नाम है जहाँ श्री – अर्थ धन और यन्त्र – अर्थ साधन। इसका देवी लक्ष्मी के साथ सीधा संबंध है, जो कि भाग्य, समृद्धि और धन की देवी हैं। इसलिए इस यंत्र के माध्यम से हमारी सभी इछाओ को पूरा किया जा सकता है।

shriyantr

श्री यंत्र के लाभ – Benefits of Sri Yantra

– यह जीवन में भाग्य, धन और संपूर्ण समृद्धि प्राप्त करने में मदद करता है।

– इसका उपयोग करने वाले व्यक्ति को प्रसिद्धि, व्यापार में वृद्धि, परिवारिक जीवन में खुशिया और शुभकामनाओ की प्राप्ति होती है।

– यह एक व्यक्ति को सफलता के मार्ग पर ले जाता है और बाधाओं को दूर करता है।

– श्री यंत्र मानसिक शांति और स्थिरता भी देता है।

– श्री यंत्र सभी अशुद्धियों से छुटकारा पाने और मन की शुद्ध स्थिति प्राप्त करने में व्यक्ति की मदद करके आध्यात्मिक आत्म विकास में मदद करता है।

– इसमें किसी व्यक्ति को जन्म और मृत्यु के चक्र से मुक्त करने की बड़ी क्षमता होती है।

यह भी पढ़े :- यंत्रों के बिना अधुरे है मंत्र

श्री यंत्र हमारे जीवन में हर प्रकार की नकारात्मकता और कठिनाइयों का समाधान करता है। कई बार हम पाते हैं कि जीवन हमारे नियंत्रण से बाहर है। हम कई बाधाओं का सामना करते हैं जैसे की हम कितना भी प्रयास करते हैं और कड़ी मेहनत करते हैं तब भी परिणाम सकारात्मक नहीं आता है। और हमे तनाव, चिंता, दूसरों के साथ रिश्ते में कड़वाहट, जीवन और पेशे में ठहराव, वित्तीय संभावनाओं में कमी, असुरक्षित भावना, बार-बार असफलता और बुरी किस्मत का सामना करना पड़ता हैं। यह हमारे जीवन में नकारात्मक ऊर्जा के कारण है। कि हम कितना भी प्रयास करें, हम असफल हो जाते हैं। श्री यंत्र इस नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने में मदद करता है और शांति और सद्भाव लाता है।

श्री यंत्र देवी और देवताओं के सभी रूपों का प्रतीक है। यह सभी ब्रह्मांडीय ऊर्जा का स्रोत है। ऊर्जा और कुछ नहीं बल्कि तरंगों और किरणों के रूप में तत्व का एक और रूप है। यह अत्यधिक संवेदनशील है और इसमें अविश्वश्नीय शक्तियां हैं। यह चीजों, ग्रहों और अन्य सार्वभौमिक वस्तुओं द्वारा उत्सर्जित सभी ब्रह्मांडीय किरणों और ऊर्जा को एकत्रित करता है और उन्हें अपने परिवेश में रचनात्मक ऊर्जा में बदल देता है। यह अपने आस-पास की सभी नकारात्मक ऊर्जा और विनाशकारी किरणों को नष्ट कर देता है।

इसी लिए हर व्यक्ति को इसका उपयोग कर इसका अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करना चाहिए।

यह भी पढ़े :- मन की शांति के लिए शक्तिशाली शांति मंत्र और उनके अर्थ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Vasant Panchami

वसंत पंचमी सरस्वती पूजा का महत्व और शुभ मुहूर्त

garuda vishnu vahan

भगवान विष्णु ने गरूड़ को ही क्यों चुना अपना वाहन